Wednesday, June 10, 2009

सोनिया के सत्ता संभालते ही उड़ीसा में हमले शुरु

स्वामी लक्ष्मणानन्द सरस्वती के निकट सहयोगी और उस हत्याकाण्ड की जाँच के लिये सतत विरोध प्रदर्शनों में भाग लेने वाले श्री रामचरण दास (उर्फ़ मौनी बाबा - उम्र 60 वर्ष) की कुछ हत्यारों ने पुरी में तलवारों से हत्या कर दी है…। मौनी बाबा अपनी पत्नी के साथ पुरी के एक आश्रम में सुबह मछलियों को दाना खिला रहे थे, तब उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर मारा गया, उनके शरीर पर तलवार के दस घाव पाये गये। कांग्रेस सरकार के सत्ता संभालने और पटनायक द्वारा भाजपा की पीठ में छुरा घोंपने के बाद यह तो होना ही था। हालांकि राज्य की पुलिस इसे पैसे के लेनदेन से जुड़ा हुआ बता रही है, लेकिन हकीकत में क्या हुआ होगा, यह सभी "शर्मनिरपेक्ष" जानते हैं…। खबर यहाँ प्रकाशित हो चुकी है…
http://www.indianexpress.com/news/Seer-hacked-to-death-in-Puri/470208

4 comments:

बसंत आर्य said...

और कुछ नही भाई राजनीति शुरू हो गई अब

Desh Premi said...

अभी भी नही जागे तो हिंदुओं का यही हाल होना है. हिंदू नेता जो अल्पसंख्यकों के हिमायती है उनका भी बुरा होगा, लेकिन ये बात आज उनको समझ मे नही आएगी... क्योंकी ये तो उनके पोते को भुगतनी होगी....

भारत मैं अब अल्पसंख्यक नाम के ही अल्पसंख्यक है उनकी आबादी हिन्दुस्तान की आबादी के 40% हो गयी है... जबकि पाकिस्तान मे अल्पसंख्यक हिंदुओं की संख्या कम होते होते 2% रह गयी है...

एक देशप्रेमी.....

नपुंसक भारतीय said...

Ise bhi dekhen!!

http://napunsakbhaaratiya.blogspot.com/2009/06/blog-post.html

pragya said...

sachchai ki talash kafii dinon se thi hamen .. apane hi desh men apano ki hi khabar nahin milati hai .. kam se kam sach ru baru to honge .