Friday, April 10, 2009

राहुल गाँधी ने एम. फ़िल. कब कर लिया? झूठा शपथपत्र दायर किया है…

जनता पार्टी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करके चुनाव आयोग को चेतावनी दी है कि यदि उसने राहुल गाँधी के चुनाव सम्बन्धी एफ़िडेविट पर कोई कार्रवाई नहीं की तो वह अदालत जायेगी। राहुल गाँधी ने अपने एफ़िडेविट मे कहा है कि उन्होंने केम्ब्रिज विश्वविद्यालय के ट्रिनिटी कॉलेज के डेवलपमेंट स्टडीज़ विभाग से M.Phil. किया है। जबकि जनता पार्टी के अध्यक्ष सुब्रहमण्यम स्वामी के अनुसार केम्ब्रिज विश्वविद्यालय के ट्रिनिटी कॉलेज के रिकॉर्ड के अनुसार राहुल गाँधी के नाम से कोई एडमीशन नहीं है, जबकि Raul Vinci के नाम से जिस व्यक्ति का नाम रिकॉर्ड में है, जो कि इटली का नागरिक है और यह व्यक्ति भी एमफ़िल करने की पात्रता खो चुका था, क्योंकि उसने नेशनल इकॉनॉमिक्स प्लानिंग की परीक्षा पास नहीं की थी, तथा ट्रिनिटी कॉलेज एम फ़िल की डिग्री प्रदान नहीं करता है। Raul Vinci की फ़ीस भी विदेशी बैंक के द्वारा भरी गई थी।

उल्लेखनीय है कि राहुल गाँधी सेंट स्टीफ़न कॉलेज, दिल्ली की बीए फ़र्स्ट ईयर हिन्दी में फ़ेल हो चुके हैं। राहुल गाँधी का ज्ञान इतना ज्यादा है कि उन्होंने एक बार गुजरात को ब्रिटेन से बड़ा बताया था, जबकि सोनिया गाँधी की शिक्षा सम्बन्धी रिकॉर्ड भी लोकसभा में झूठा साबित हो चुका है और उन्होंने कहा था कि “यह टाइपिंग की गलती से हुआ है…”। क्या ये सारा नेहरू खानदान ही झूठा और नकली है?

सुब्रहमण्यम स्वामी की माँग के अनुसार सभी के एफ़िडेविट की बारीकी से जाँच होना चाहिये और सम्पत्ति की आय का सोर्स भी पूछा जाना चाहिये… शर्मनिरपेक्षता की हद हो गई अब तो…

इन शर्मनिरपेक्ष समाचारों को यहाँ देखा जा सकता है…

http://www.indiagrid.com/cgi-bin/viewarticle.cgi?dmmy=ok&postid=11558&cat=art&subcatid=age


http://expressbuzz.com/edition/story.aspx?Title=Express+report+vindicates+my+stand,+says+Swamy&artid=bg8oxyKr/yc=&SectionID=vBlkz7JCFvA=&MainSectionID=fyV9T2jIa4A=&SectionName=EL7znOtxBM3qzgMyXZKtxw==&SEO=

21 comments:

Vivek Rastogi said...

बिल्कुल सही है चुनाव आयोग को राहुल पर चुनाव लड़ने पर रोक लगा देनी चाहिये, जो व्यक्ति झूठ के दम पर संसद में जाने का दम भर रहा हो।

Ravi said...

हद होगई झूठ बोलने की
बेटा सवा सेर!

विक्रांत said...

why he is doing like this? He has been projected as a future PM. Are we dumb? Fail in one subject, amazing.

गुस्ताखी माफ said...

हमारी ही बदकिस्मती है जो हमें एसे एसे बेईमान झूठे, मक्कार और @#$#%% लोगों के झेलना पड़ रहा है.

cmpershad said...

नेहरू खानदान! और गांधी के नाम से पुष्पित-पल्लवित हो रहा है :)

Anil Pusadkar said...

शेम-शेम्॥

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत शर्म की बात है.

रामराम.

राजीव जैन Rajeev Jain said...

baap reeeeeeeeeee

itna bada gotala

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) said...

अफ़सोस तो इस बात का है कि कुछ लोगों को इस समय मात्र मीनमेख निकालने के लिये ये सब करना पड़ रहा है क्या इन लोगों ने खुल कर देश का बैंड नही बजाया है, कितने नेताओं ने इस बारे में कानूनी कार्यवाही करने की जहमत उठाई... सब सुअर हैं तेरी भी चुप मेरी भी चुप और जनता तो भेड़चाल चलने वाली है ही

Satya Prakash said...

ham kitna bhi chilaate rahen jab tak ham inke khilaf vote dalne nahin jaayenge tab tak ye gaddar neta nahin manenge |isliye ab hamen vote rupi hathiyar chalana chahiye |

Satya Prakash said...

ye gandhi(bahurupiye)kab se gita padhne lage ,jo ye gita ka gyan bat rahe hai ? inko gita yahi sikhati hai ki tum jhuthi digri le kar desh par raaj karo | sharm karo ,sharm karo |

Satya Prakash said...

ye gandhi(bahurupiye)kab se gita padhne lage ,jo ye gita ka gyan bat rahe hai ? inko gita yahi sikhati hai ki tum jhuthi digri le kar desh par raaj karo | sharm karo ,sharm karo |

arjun sharma said...

rahul gandhi MPhil na bhi hon to kya fark padhta hai. per agar nahin hain to jhooth likhne ki kya jaroorat thi, yeh unethicle hai jo congres ke pracharit yuvraj ko shobha nahin deta
Arjun Sharma

samatavadi said...

कांग्रेस के बनारस के उम्मीदवार राजेश मिश्र का अखबारों में छपा इस्तेगासा कहता है - एक भी अपराध नहीं । जो मुकदमे पहले चले हैं उनका उल्लेख भी करना पड़ता है । मेरे ऊपर चले कम से कम १२ मुकदमों में उनका भी नाम रहा है । पता नहीं उनका उल्लेख करते हैं या नहीं ।

दिल दुखता है... said...

हिंदी ब्लॉग की दुनिया में आपका सादर स्वागत है....

shashaank says said...

आपने बहुत अच्छी जानकारी दी है..मुझे नहीं पता था धन्यवाद...राहुल गांधी झूठ के दम पर कबतक चुनाव में उतरेंगें..लेकिन हमारी गंवार जनता उनकों भी जिता देगी जैसे बदमाशों गुण्डों को जिता देती है...

संगीता पुरी said...

बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

ajay kumar jha said...

naam ke anuroop aapkee lekhanee bhee behad umdaa aur prabaavit karnea walee rahee hai aur rahee baat rahul ke jhooth kee to yahee is desh kee aur tathakathit dhramnirpeksh loktantra kee . soochnaa ke liye dhanyavaad.

Nirmla Kapila said...

apki ye post padh kar ham to sharamnirpeksh nahi rahe sharamsar ho gaye hain shubhkamnaayen

Satya Prakash said...

ham jab tak vote nahi denge ,or apne gharo mai hi pade rahenge tab tak ye gundye, deshdrohi log jeet ,jeet kar sansad mai aate rahenge or bharat maa ka anchal lahu luhan karte rahenge |kyonki jo anpadh log hai vo to vote dene chala jata hai magar jo log padhe likhe hai ,vo ghar se bahar nahi niklte or baad mai khisiyate hai .ab ki baar aisa nahi hona chahiye . hame vote dena hai desh bachana hai .

Satya Prakash said...

kripya koi sajjan mujhe hindi font ke baare mai bataye to badi maharbani hogi .mai chhata hun ki jo mai likhu vo hindi mai convert ho jaye ,mai abhi naya khiladi hun. please .